जयपुर hellobikaner.com प्रदेश में विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों की अंतिम वर्ष एवं अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं का आयोजन सुप्रीम कोर्ट एवं यूजीसी की गाइडलाइंस के अनुसरण में पूर्व की भांति ऑफलाइन करवाया जाएगा, ताकि इन परीक्षाओं की विश्वसनीयता बनी रहे तथा जारी की जाने वाली डिग्रियों की वैधानिकता पर प्रश्न चिन्ह नहीं लगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय किया गया। बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि उच्च शिक्षा विभाग इस संबंध में विस्तृत गाइडलाइन जारी करे।

बैठक में निर्णय किया गया कि कोविड-19 की विशिष्ट परिस्थितियों के अंतर्गत अगर कोई विद्यार्थी किसी भी कारण में सम्मिलित नहीं हो पाता है तो विश्वविद्यालय द्वारा उनके लिए विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी, ताकि कोई भी विद्यार्थी परीक्षाओं से वंचित नहीं रह पाए।

बैठक में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवरसिंह भाटी, तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा सचिव शुचि शर्मा, सूचना एवं जनसम्पर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी, कॉलेज शिक्षा निदेशक संदेश नायक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।