सजगता से बची दुर्लभ बाज की जान

0



चूरू, जितेश सोनी । तेजी से लुप्त हो रहे परिंदों को लेकर किसी शायर ने इसे ग्लोबल सच बताया है। लेकिन इस सच को साकार करने में जिला मुख्यालय पर कार्यरत तीन बिजलीकर्मियों ने उल्लेखनीय भूमिका निभाई है। दरअसल जिला मुख्यालय स्थित 33 केवी जीएसएस में एक दुर्लभ प्रजाति का बाज करंट लगने से फंसकर रह गया था। लेकिन उसी समय कनिष्ठ अभियंता डूंगरसिंह, लाइनमैन बाबू खां व चालक प्रताप फगेडिया ने उसे देख लिया। तीनों बिजलीकर्मियों ने उसे बचाने के लिए करंट से मुक्त किया व तुरंत वन विभाग के अधिकारियों को बुलवाकर उसे सौंप दिया। वन विभाग से आए सहायक वन संरक्षण अधिकारी वीरेंद्र सिंह कृष्णियां ने बताया कि इस प्रजाति के बाज विलुप्त हो रहे हैं इसलिए बिजलीकर्मियों द्वारा इसे बचाया जाना महत्वपूर्ण है। कृष्णियां ने बाज को अपने अधिकार में लेकर तुरंत रेंजर नरपत सिंह के साथ मिलकर पशु चिकित्सालय में ईलाज करवाया। कृष्णियां ने बताया कि आमजन को सजग रहकर दुर्लभ प्रजाति के पक्षियों का जीवन बचाने के लिए सहयोग करना चाहिए।