मुख्यमंत्री की मंशा पर कला के विकास और संरक्षण के लिए पुरजोर प्रयास – लक्ष्मण व्यास

0
hellobikaner.com




हैलो बीकानेर न्यूज नेटवर्क, चूरू, मदनमोहनआचार्य, hellobikaner.com  राजस्थान ललित कला अकादमी एवं गार्गी विद्यापीठ समिति (गार्गी कन्या महाविद्यालय नोहर) के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित 3 दिवसीय राज्य स्तरीय चित्रकार शिविर का समापन नोहर की जांगीड़ सुथार समाज धर्मशाला में हुआ। समापन शिविर में मुख्य अतिथि नोहर विधायक अमित चाचाण थे।

 

 

कार्यक्रम की अध्यक्षता राजस्थान ललित कला अकादमी जयपुर के अध्यक्ष लक्ष्मण व्यास ने की। अतिथि के रूप में राजकीय कन्या महाविद्यालय नोहर के प्राचार्य कमलेश शर्मा, पुलिस उप अधीक्षक नोहर रघुवीर सिंह भाटी ओमप्रकाश खठोतिया, व्यवसायी राकेश चाचाण, अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी तेज कुमार शर्मा व साहित्य कार दीन दयाल शर्मा थे।

 

 

इस अवसर पर बोलते हुए विधायक अमित चाचाण ने कहा कि नोहर अन्य कलाओं के साथ-साथ चित्रकला व मूर्तिकला के क्षेत्र में भी राजस्थान में अग्रणी स्थान रखता है। कला विकास के लिए और संरक्षण के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने नोहर में कला दीर्घा(आर्ट गैलरी)  की स्थापना के लिए भी अपनी सहमति प्रकट की तथा कलाकारों को विश्वास दिलाया कि यह कार्य शीघ्र ही संपन्न होगा।

 

 

 

कार्यक्रम अध्यक्ष लक्ष्मण व्यास ने अपने उद्बोधन में कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी की मंशा के अनुसार ललित कला अकादमी तथा राज्य सरकार राजस्थान के दूरस्थ क्षेत्रों में कला के विकास और संरक्षण के लिए पुरजोर प्रयास कर रही है। इस हेतु प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय तक कलाकारों के साथ संवाद किया जा रहा है।

 

 

ताकि उनके सुझाव और समस्याओं पर मंथन किया जा सके। विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए ओमप्रकाश कठोतिया ने कलाकारों से नवीन सृजनात्मक गतिविधियों के निरंतर आयोजन के लिए आग्रह करते हुए इस आयोजन को अनूठी पहल बताया। राजकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ कमलेश शर्मा ने प्रत्येक व्यक्ति के अंतर्मन के कलाकार को अभिव्यक्ति का अवसर प्रदान करने के लिए इस प्रकार के आयोजनों को महत्वपूर्ण बताया। पुलिस उप अधीक्षक रघुवीर सिंह भाटी ने जीवन की नीरसता को दूर करने के लिए उसने रंग भरने की दृष्टि से चित्रकला को महत्वपूर्ण माध्यम बताया।

 

 

 

इस अवसर पर शिविर में सजित कलाकृतियों की एक प्रदर्शनी भी आयोजित की गई । शिविर में 20 कलाकारों ने एक्रेलिक माध्यम से चित्र तैयार किए। उल्लेखनीय है कि 3 जनवरी से प्रारंभ हुए इस शिविर में वनस्थली से मनोज टेलर, जयपुर से कृष्ण महर्षि, राजेंद्र प्रसाद, चानन मल, तनु, मीनाक्षी, संगरिया से राधेश्याम कोटी, बीकानेर से योगेंद्र पुरोहित, सीकर से मुकेश बिजारणिया, छोटू राम, राजेश कुमार चूरू से हरीश स्वामी, नोहर से महेंद्र प्रताप शर्मा, सुरेंद्र कुमार सुथार, गणेशा राम, नीलम यादव, हनुमानगढ़ से भावना बाकोलिया आदि चित्रकारों ने भाग लिया सभी चित्रकारों को स्मृति चिन्ह देकर अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया।

 

 

कार्यक्रम के अंत में गार्गी विद्यापीठ समिति की ओर से अनिल शर्मा ने सभी आगंतुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संयोजन महेंद्र प्रताप शर्मा द्वारा किया गया। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य महेंद्र मिश्रा, सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य अमर सिंह, रोहित स्वामी, एडवोकेट रोहिताश जांगिड़, राजकीय महाविद्यालय से प्रवक्ता बलदेवा राम शर्मा, कला व्याखाता विनोद कुमार जांगिड़, सुरेश कुमार छिम्पा सहित बड़ी संख्या में कलाप्रेमी छात्र-छात्राएं व नागरिक उपस्थित थे।