बीमार पीडि़त जन की सेवा करना ही सच्ची मानव सेवा : निर्मल नाथ

0



हैलो बीकानेर, सादुलपुर,(अविनाश के.आचार्य)। राजगढ़ तहसील के सुप्रसिद्ध थानमठुई धाम के महंत निर्मल नाथ ने कहा कि बीमार पीडि़त जन की सेवा करना ही सच्ची मानव सेवा है उन्होने कहा कि ईश्वर के बाद मानव जीवन मे डाक्टर ही भगवान का रूप होता है बीमार व्यक्ति अपना जीवन डाक्टर के हाथो मे सौंप देता है इसलिए डाक्टरजनो का पहला धर्म है की बीमार पीडि़त जन की तन मन से सेवा कर उसे स्वस्थ जीवन देकर यह सिद्ध करे की पहला सुख निरोगी काया। सेवन स्टार के अनुसार महंत निर्मल नाथ राजगढ़ में युवा समाजसेवी जयप्रकाश कलाल द्वारा सरकारी होली टिब्बा स्थित जिन्दल अतिथि भवन के पास नवनिर्मित श्रीनाथ हॉस्पीटल का फीता काट कर उद्घाटन करने के बाद उपस्थित जन समूह मे विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होने डाक्टरो से आग्रह किया कि मरीजो की चिकित्सा सेवा करना ही उनका मुख्य लक्ष्य होना चाहिए न की धन कमाना। महंत ने कहा कि सेवा किसी भी क्षेत्र मे की जाए उसका फल अवश्य मिलता है। समारोह में सुप्रसिद्ध महंत निर्मल नाथ के अलावा ददरेवा के महंत कृष्ण नाथ, जोगी आश्रम के महंत धर्मनाथ, नगर के युवा पण्डित अजय शास्त्री, मुरारीलाल शर्मा, पवन शर्मा, चिरंजीलाल शर्मा, पण्डित विमल शर्मा आदि ने मंत्रोच्चारण कर पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर जैन अस्पताल के प्रमुख डाक्टर विनोद अग्रवाल, डॉ.उर्मिल जैन, प्रमुख स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ.रामकुमार घोटड़, प्रमुख समाजसेवी रामावतार बैरासरिया, युवा भामाशाह समाजसेवी मनीराम पचार, इन्कमटेक्स अधिवक्ता ओमप्रकाश खीचड़, डॉ.विनोद कुमार चौधरी, डॉ.सत्यनारायण शांडिल्य, सेवन स्टार के प्रधान सम्पादक मदनमोहन आचार्य, युवा सामाजिक कार्यकर्ता हैदर अली, अशोक चंगोईवाला, रामावतार शर्मा, आर.एस.मैमोरियल स्कूल के निदेशक महावीर सिंह शेखावत, शिक्षाविद् राजकुमार शर्मा, सीआर मैमोरियल के प्राचार्य मूलचन्द शर्मा, प्रेस छायाकार जे.पी तंवर सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। आगन्तुक मेहमानो का श्रीनाथ हॉस्पीटल के संचालक जयप्रकाश कलाल एवं डाक्टर विनोद चोधरी ने आभार व्यक्त किया।