राजस्थान के लिए वर्ष 2022 कुछ खट्टी-मिठ्ठी यादें ….

0
hellobikaner.com




हैलो बीकानेर न्यूज़ नेटवर्क, जयपुर, hellobikaner.com राजस्थान के लिए वर्ष 2022 खट्टी मिठ्ठी यादों के साथ मिला जुला रहा है।

 

 

जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार की महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का दायरा बढ़ाकर दस लाख रुपए तथा पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) योजना को लागू किया गया वहीं बार-बार पेपर लीक की घटनाओं ने युवाओं को झकझोरा तथा जोधपुर जिले में शादी समारोह में गैस सिलेण्डर विस्फोट में करीब तीन दर्जन लोगों की मौत, उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड, करौली और जोधपुर में दंगे जैसी घटनाओं से लोग सहम गए।

 


गहलोत ने फरवरी में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का दायरा पांच लाख रुपए से बढ़ाकर दस लाख रुपए कर दिया गया और मार्च में ओपीएस योजना को लागू कर मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार से भी इस महत्वपूर्ण योजना को लागू करने का आग्रह किया। पंचायती राज कनिष्ठ लिपिक भर्ती 2013 जो लगभग 9 सालों से लंबित पड़ी थी उसके 4000 पदों पर मंजूरी मिली, लोग को नौकरी मिली भी लेकिन अभी तक 6029 पदों पर मंजूरी बाकी बताई जा रही है। 

 


गत आठ दिसंबर को जोधपुर जिले में शेरगढ़ के भूंगरा गांव में एक शादी समारोह में बारात विदाई से पहले गैस सिलेंडर में विस्फोट होने करीब 55 लोग झुलस गए और इस घटना में 35 लोगों की मौत हो गई। साल के शुरु में जनवरी में राज्य में कोरोना की तीसरी लहर का कहर बढ़ा और प्रदेश में सक्रिय मामलों का आंकड़ा फिर 60 हजार के करीब पहुंच गया था। कोरोना के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए पाबंदियां और सख्ती बढ़ाई गई और काबू किया गया।
इसी महीने के आखिरी दिन 31 जनवरी को वरिष्ठ आईएएस ऊषा शर्मा को प्रदेश की मुख्य सचिव नियुक्त किया गया।

 

 


सात फरवरी को रीट लेवल दो की परीक्षा का पेपर लीक हो गया। इसके बाद तो एक के बाद एक पेपर लीक की घटनाओं ने छात्रों को झकझोर दिया। 14 मई को कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक , अगस्त में टेक्नकल हेल्पर भर्ती , 12 नवंबर को वनरक्षक भर्ती और साल के अंतिम माह में 24 दिसंबर को वरिष्ठ अध्यापक भर्ती का पेपर लीक हो गया। परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ी।

 


मार्च माह में यूक्रेन-रुस के बीच युद्ध में फंसे 400 भारतीय छात्रों को निकाला गया जिसमें से 47 छात्र राजस्थान के थे। दो अप्रैल को करौली में शोभायात्रा में दो पक्षों के बीच पथराव हो गया। इसमें 36 लोग घायल हो गए तथा कई दुकानें फूंक दी गई। घटना के बाद कर्फ्यू लगाना पड़ा और इंटरनेट बंद रहा। तीन मई को मुख्यमंत्री के गृह नगर जोधपुर में स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर झंडा लगाने को लेकर हुए विवाद हो गया। जिसने बाद में दंगे जैसा रुप ले लिया और घटना के बाद कई दिनों तक कर्फ्यू लगाना पड़ा और इंटरनेट बंद रहा।

 

 


राजस्थान में झीलों की नगरी उदयपुर में 13 से 15 मई तक कांग्रेस नवसंकल्प शिविर आयोजित किया गया। जिसमें पार्टी की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा देशभर से 450 से ज्यादा नेताओं ने भाग लिया।

 

 


उदयपुर में 28 जून को दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया गया जिसमें शहर के मालदा स्टेट की भूत महल गली में मोहम्मद पैंगबर पर सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने के मामले को लेकर दिन दहाड़े कन्हैयालाल साहू टेलर की रियाज और गौस मोहम्मद ने हत्या कर दी। हत्यारों ने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया। इस मामले की जांच एनआईए कर रही है।

 

 


बूंदी में रामगढ़ विषधारी को प्रदेश का चौथा टाइगर रिजर्व घोषित किया गया। 16 जुलाई को बाघ की शिफ्टिंग भी हुई।
20 जुलाई को भरतपुर में आदिब्रदी एवं कनकाचल पर्वतों में खनन के खिलाफ 551 दिन के धरने के बाद पशुपतिनाथ मंदिर के महंत विजयदास (60) ने आत्मदाह कर लिया। उदयपुर में 29 अगस्त को मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में पांच बदमाशों ने करीब 24 किलो सोना और साढ़े लाख रुपये लूट लिया।

 


राष्ट्रीय खेल दिवस 29 अगस्त को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में खेलों के महाकुंभ के रूप में पहली बार आयोजित राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक-2022 का राज्यस्तरीय शुभारंभ जोधपुर की लूणी पंचायत समिति के गाँव पाल से किया। अक्टूबर माह के पहले सप्ताह में निवेश मेला राजस्थान समिट 2022 को आयोजन किया गया। इसमें अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी के अलावा टाटा , वेंदाता समूह सहित देश विदेश के हजारों कारोबारी पहुंचे। इस समिट में करीब साढ़े दस लाख करोड़ के निवेश की घोषणाएं हुई।

 

 


29 अक्टूबर को नाथद्वारा में विश्व की सबसे ऊंची 369 फीट की विशाल शिव प्रतिमा को भक्तों के लिए खोल दिया गया। यह विश्व की एकमात्र शिव प्रतिमा है जिसमें लिफ्ट , सीढ़ियां , हॉल आदि है। इसे बनाने में दस साल का समय लगा। उदयपुर में 13 नवंबर को उदयपुर-अहमदाबाद रेलवे लाइन पर बने पुल पर आरोपियों ने विस्फोट की घटना को अंजाम दिया जिससे रेलपटरियों में दरार आ गई। इस मामले में आठ लोगों की गिरफ्तारी हुई।

 

 


14 नवंबर को राजस्थान विधानसभा में राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक विकास को दर्शाने वाले डिजिटल म्यूजियम का उद्घाटन हुआ और एक माह तक स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों का प्रवेश निशुल्क रहा। 18 नवंबर को सवाईमाधोपुर वृताधिकारी फूल मोहम्मद हत्याकांड पर अदालत का फैसला आया। एससी एसटी की विशिष्ट अदालत ने तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक महेन्द्र सिंह सहित 30 अभियुक्तों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई। साल के अंतिम माह में राज्य में झीलों की नगरी उदयपुर वैश्विक स्तर पर छाया रहा है। यहां 04 से सात दिसंबर तक सिटी पैलेस में भारत की अध्यक्षता में पहली जी-20 बैठक आयोजित की गयी।

 

 


कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा ने साल के आखिरी महीने में चार दिसंबर की शाम को मध्यप्रदेश से झालावाड़ जिले के झालरापाटन क्षेत्र के चवली गांव से राजस्थान की सीमा में प्रवेश किया। यात्रा 17 दिनों तक राजस्थान के सात जिलों से होकर गुजरी। इस दौरान करीब 520 किलोमीटर का सफर पूरा किया। यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा सहित प्रदेश कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।