सेवारत चिकित्सकों का राज्यव्यापी धरना कल 

काली दिवाली मनाने का निर्णय

असहयोग आंदोलन के तहत चिकित्सकीय कार्य के अलावा अन्य कार्यों का कर रहे है बहिष्कार 

२ अक्टूबर से बाबूगिरी नहीं करने का लिया था निर्णय 

जयपुर। अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के आव्हान पर प्रदेश स्तर पर चल रहे सेवारत चिकित्सकों के आंदोलन के तहत गत दो अक्टूबर गांधी जयंती से राज्य भर में असहयोग आंदोलन चलाया जा रहा है। असहयोग आंदोलन में प्रदेश के 10 हजार सेवारत चिकित्सक चिकित्सकीय कार्य के अलावा अन्य कार्यों का बहिष्कार कर रहे है !

अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अजय चौधरी ने बताया कि
प्रदेश के सभी 33 जिलो में कल 16 अक्टूबर दोपहर 1 बजे से 4 बजे तक राज्य के सभी सेवारत चिकित्सक राज्य का स्वास्थ्य प्रबंधन सुधारने की 33 माँगो के लिए राज्यव्यापी धरना देंगे।
असहयोग आंदोलन के तहत सेवारत चिकित्सक ने एलान कर रखा है कि राज्य का सेवारत चिकित्सक अपनी माँगे माने जाने तक बाबूगिरी का काम नहीं करेंगे और केवल चिकित्सकीय कार्य करते हुए पीड़ित,बीमार व रूग्ण व्यक्ति को चिकित्सा उपलब्ध करवाते हुए यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके आंदोलन से किसी भी मरीज़ को तनिक सा भी कष्ट ना हो ।
साथ ही अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय चौधरी ने कहा कि राज्य में पीड़ित मानवता की सेवा कर राज्य के स्वास्थ्य मानकों को सुधारने में जुटा सेवारत चिकित्सक अपनी जायज़ माँगो को लेकर गत तीन माह से गांधीवादी तरीक़े से आंदोलनरत है किंतु राज्य सरकार द्वारा राज्य के स्वास्थ्य प्रबंधन को सुधारने के लिए की जा रही इन माँगो पर कोई सकारात्मक पहल या निर्णय नहीं किया जा रहा है जिससे व्यथित होकर राज्य भर के सेवारत चिकित्सकों ने आगामी 19 अक्टूबर को काली दीपावली मनाने का कठोर निर्णय किया है !!

जयपुर ज़िला अध्यक्ष डॉ विधाप्रकाश मीना ने बताया कि जयपुर में स्वास्थ्य निदेशालय में चिकित्सकों द्वारा बेठक और मौन धरने का आयोजन किया जाएगा !!
इन कार्यों का कर रहे हे सेवारत चिकित्सक बहिष्कार

विडियो कांफ्रेसिंग- राज्य स्तर से आयोजित होने वाली समस्त वीसी का समस्त सेवारत चिकित्सक बहिष्कार कर रहे है !
मीटिंग व प्रशिक्षण -निदेशालय व प्रशासन की ओर से आयोजित राज्य स्तरीय सभी मीटिंग व प्रषिक्षण तथा राज्य स्तरीय जिला स्तरीय, खण्ड स्तरीय बैठकों को बहिष्कार किया जा रहा है !

रिपोर्टिंग-सभी प्रकार की खण्ड, सीएचसी, पीएचसी, सब सेंटर एवं सीएमएचओ कार्यालय से भेजी जाने वाली रिपोर्ट जो चिकित्सक के हस्ताक्षर से भेजी जाती है पूर्णतया बहिष्कार किया जा रहा है !

शिविर – आउट्डोर परिवार कल्याण शिविरों का पूर्णतया बहिष्कार किया जाएगा। किंतु स्टेटिक सेंटर जहाँ सभी विशेषज्ञ उपलब्ध है वहाँ परिवार कल्याण सेवाये दी जा रही है !स्वास्थ्य शिक्षा के शिविरों को भी बहिष्कार किया जा रहा है !

दिव्यांग को नहीं होने देंगे कोई कष्ट

अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अजय चौधरी ने बताया कि प्रदेश के दिव्यांग व निषक्त व्यक्तियों के दर्द को समझते हुए माननीया मुख्यमंत्री की पहल पर प्रदेश में चल रहे विशेष योग्यजन शिविरो में दिव्यांग जनो की जाँच और प्रमाण पत्र के लिए सेवारत चिकित्सक अपनी सेवाए निष्ठा पूर्वक निरंतर जारी रखते हुए पीड़ित मानवता की सेवा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता और संकल्प के मुताबिक़ कार्य कर रहे है !

 

उल्लेखनीय है कि गत 18 सितम्बर को सेवारत चिकित्सक ने एक दिन के सामूहिक अवकाश भी रखा था।

4 COMMENTS

  1. Nice post. I learn one thing more difficult on completely different blogs everyday. It’s going to at all times be stimulating to learn content material from different writers and observe a little something from their store. I’d favor to use some with the content material on my blog whether or not you don’t mind. Natually I’ll provide you with a link on your internet blog. Thanks for sharing.

LEAVE A REPLY