हैलो बीकानेर। लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला सोमवार को एक दिवसीय दौरे पर बीकानेर पहुंचे। सबसे पहले वे संघ प्रचारक दुर्गादास व्यास के घर गए और वहां संघ प्रचारक व्यास के पिता के निधन पर शोक संवेदनाएं जताई। इसके बाद उन्होंने सरकिट हाउस में केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल सहित पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात की। सर्किट हाउस में वे मीडिया से भी रूबरू हुए। मीडिया से उन्होंने कहा कि संसदीय सत्र को चलाना चुनौतीपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि संसद सत्र इस बार काफी महत्वपूर्ण रहा जिसमे कई ऐतिहासिक बिल पारित हुए हैं। खुशी है कि सभी सांसदों का मुझे सहयोग मिला।

संसद में ज्यादातर विधेयक सभी सांसदों के सहयोग और सर्वसम्मति से पारित हुए। संसदीय कार्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि अर्जुनराम मेघवाल ने अपनी भूमिका बेहतर तरीके से निभाई है क्योंकि संसद मे 265 नए सदस्य पहली बार चुनकर आए हैं। उन सांसदों को नियम प्रक्रिया की जानकारी देना सबसे बड़ी चुनौती थी, मगर सभी सांसदों ने जल्द ही संसदीय प्रकिया को समझकर कार्यवाही चलने में सहयोग दिया।

राजनीतिक गलियारों में चर्चा

लोकसभाध्यक्ष ओम बिरला व राजपूत नेता व पूर्व काबीना मंत्री देवीसिंह भाटी की सोमवार को बीकानेर के सर्किट हाउस में हुई मुलाकात के राजनीतिक हलकों में कई कयास लगाए जा रहे है। आपको बता दे बीकानेर के पूर्व सांसद स्व महेंद्र सिंह भाटी व बिरला एक दौर में अंतरंग मित्र रह चुके है जिसकी गूंज पिछले दिनों बजट सत्र के दौरान लोकसभा में भी सुनाई दी थ। देवीसिंह भाटी अपने पौत्र अंशुमान सिंह के साथ बिड़ला से मुलाकात की। इस मीटिंग को शिष्टाचार भेंट भले ही कहा जाए लेकिन राजनीति के पंडित इस मुलाकात को एक बहाना बता रहे है।