अजमेर।  राजस्थान में अजमेर ख्वाजा दरगाह में ईद के मौके पर कल तड़के आस्ताना खुलने के साथ ही जन्नती दरवाजा भी खोल दिया जाएगा जो नमाज के बाद दोपहर तीन बजे खिदमत के वक्त बंद किया जाएगा।
दरगाह कमेटी ने ईद की नमाज के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली है और ईद की मुख्य नमाज केसरगंज स्थित ईदगाह पर होगी।
दाउदी बोहरा समाज ने आज परंपरागत तरीके से अजमेर में ईदुलजुहा मनाया। सिनेमा रोड़ स्थित शिवाजी पार्क के पास स्थित बोहरा मस्जिद में सुबह साढें छह बजे ईदुलजुहा की नमाज अदा की गई। नमाज की धार्मिक रस्म निभाने के बाद दाउदी बोहरा समाज के लोगों ने अपने अपने घरों पर बकरों की कुर्बानी दी और खुशहाली की कामना की।
गौरतलब है कि ईद-ए-कुर्बा (बकरा ईद) अल्लाह के पैगंबर हजरत इब्राहिम खलीलुल्लाह के अपने बेटे हजरत इस्माइल की कुर्बानी देने और अल्लाह ने उसे कूबूल करने की याद में तकरीबन दो हजार साल से मनाई जाती आ रही है। 

1 COMMENT

  1. Hi , I do believe this is an excellent blog. I stumbled upon it on Yahoo , i will come back once again. Money and freedom is the best way to change, may you be rich and help other people.

LEAVE A REPLY