नई दिल्ली। स्कूली बच्चों में साफ़ सफाई के प्रति जागरूकता फ़ैलाने के लिए तमिलनाडू को आज स्वच्छ विद्यालय का पहला पुरस्कार दिया गया जबकि आंध्रप्रदेश को दूसरा तथा और राजस्थान को तीसरा पुरस्कार दिया गया।
मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने यहाँ दिल्ली कैंट में केन्द्रीय विद्यालय में आयोजित एक समारोह में इन राज्यों को ये पुरस्कार प्रदान किये। इस मौके पर मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा भी मौजूद थे। इन राज्यों का चयन देश भर में आयोजित ऑनलाइन प्रविष्टि के आधार पर किया गया। दो लाख 68 हज़ार 402 स्कूलों में से 643 स्कूलों का चयन किया गया जिनमें 172 स्कूलों को राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया।
इन तीनो राज्यों में सफाई की दृष्टि से अधिकतम स्कूलों को पांच सितारा और चार सितारा स्कूल का दर्जा दिया गया। इन पुरस्कृत स्कूलों को प्रमाणपत्र के अलावा 50- 50हज़ार रुपये अतिरिक्त अनुदान के रूप में दिए गए जिसे स्कूल में साफ़ सफाई पर ही खर्च किया जाना है। इसके अलावा 11 जिलों को भी राष्ट्रीय पुरस्कार दिए गए।
श्री जावडेकर ने बच्चों को स्वच्छता राजदूत बताते हुए क्लीन इंडिया पर जोर देते हुए कहा कि इससे न्यू इंडिया बनेगा। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष से स्वच्छता की रैंकिंग में निजी स्कूलों को भी शामिल किया जायेगा और स्कूल के शिक्षकों के अलावा अभिभावकों को भी साफ-सफाई पर ध्यान देनी की जरुरत है। 

LEAVE A REPLY

*

code