हैलो बीकानेर। प्रदेश कांग्रेस सचिव राजकुमार किराडू सहित अन्य पदाधिकारियों ने रविवार को जिला प्रभारी मंत्री सालेह मोहम्मद एवं प्रभारी महासचिव रेहाना रियाज से सर्किट हाउस में मुलाकात कर नगर निगम चुनावों में वास्तविक कार्यकर्ता को ही मौका देने की मांग की।

इस शिष्टमंडल में शहर जिला अध्यक्ष यशपाल गहलोत, प्रदेश कांग्रेस सचिव जिया उर रहमान, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष जावेद पड़िहार, सुभाष स्वामी, पूर्व पार्षद आनंद सिंह सोढा, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड सहित विभिन्न पदाधिकारी साथ रहे। इस दौरान किराडू नेे कहा कि कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की लगातार पांच वर्षों की मेहनत के कारण प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी। इसलिए आगामी निकाय चुनावों में जमीन से जुड़े इन कार्यकर्ताओं को ही प्राथमिकता से टिकट दिए जाएं। ऐसा नहीं होने पर वास्तविक कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट जाएगा। यह पार्टी के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

उन्होंने प्रभारी मंत्री से शिकायत करते हुए कहा कि वर्तमान में प्रशासनिक अधिकारी, कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं करते हैं। सरकार स्तर पर पदाधिकारियों के कार्य नहीं हो रहे हैं, जबकि आज भी संघ के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के काम हो रहे हैं। ऐसा लग नहीं रहा है कि आज प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है। छोटे-छोटे कार्यों के लिए कांग्रेसी पदाधिकारियों को परेशानी हो रही है। अधिकारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं का फोन नहीं उठता और  समय पर रेसपोंस नहीं करते। उन्होंने कहा कि सरकार स्तर पर अधिकारियों को इस संबंध में निर्देशित किया जाए।

सभी पदाधिकारियों ने पीबीएम अस्पताल की व्यवस्थाओं की प्रभावी माॅनिटरिंग के लिए राजस्थान प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी की नियुक्ति करने की मांग रखी। उन्होंने पीबीएम की वर्तमान व्यवस्था पर चर्चा भी की। किराडू ने प्रभारी मंत्री को ‘जनसमस्या सुनवाई एवं पारदर्शी शासन की गारण्टी’ शिविर के तहत की जाने वाली जनसुनवाई के बारे में बताया।