हैलो बीकानेर। जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र सहित सभी औद्योगिक क्षेत्रों में हुए अतिक्रमणों हटाने की कार्यवाही रीको तथा यूआईटी मिल कर करें। आवश्यकता पड़ने पर इसमें पुलिस की मदद ली जाए।

जिला औद्योगिक समिति की बैठक में अधिकारियों को निर्देशित करते हुए जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि अतिक्रमणों को हटाने के लिए सम्बंधित को नोटिस दिया जाए, इसके बावजूद यदि अतिक्रमण नहीं हटाया जाता है तो हटाने की कार्यवाही की जाए और कार्यवाही में बाधा डालने वाले व्यक्ति के विरूद्ध राजकार्य में बाधा पहंुचाने के तहत एफआईआर दर्ज करवाई जाए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जब भी अतिक्रमण हटाने जाएं तो सम्बंधित क्षेत्र के थाने से पुलिस जाब्ता जरूरत के मुताबिक मांग लें। यदि पुलिस जाब्ता नहीं पहुंचता है तो इसकी जानकारी दी जाए ताकि सम्बंधित थानाधिकारी अथवा एसएचओ के विरूद्ध कार्यवाही के लिए पुलिस अधीक्षक को लिखा जा सके।

कुमारपाल गौतम ने रीको तथा उद्योग विभाग को निर्देश दिए कि ठोस कचरा डालने के स्थान का चिन्हीकरण किया जाए, ताकि इकाईयां उसी निर्धारित स्थान पर कचरा डाल सकें। यदि औद्योगिक इकाईयां निर्धारित स्थान पर कचरा नहीं डालती पाई गई तो सम्बंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने आयुक्त नगर निगम को वैकल्पिक व्यवस्था के तहत रात के समय कचरा संग्रहण गाड़ियां भेजने की बात कही। उद्यमी डी पी पच्चसिया ने रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र में सड़क पर पेचवर्क  तथा घड़सीसर जाने वाली सड़क के मरम्मत का कार्य करवाने की मांग की। इस पर गौतम ने नगर विकास न्यास को इस सड़क के पेचवर्क तथा मरम्मत का कार्य शीघ्र पूर्ण करवाने के निर्देश दिए।

बैठक में उद्यमी कमल कल्ला, घेवरचंद मुशर्रफ व डी पी पच्चीसिया ने जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम से आग्रह किया कि बीकानेर में कुछ और लोग भी होटल व्यवसाय में कार्य प्रारम्भ करना चाहते हैं, मगर नगर विकास न्यास की तरफ से आवश्यक सहयोग न मिलने से इस दिशा में प्रगति नहीं हो पा रही है। ऐसे में यदि होटल व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए न्यास द्वारा अलग से एक खिड़की लगवाई जाएं जहां होटल व्यवसायी अपने कार्य करवा सकें तो बीकानेर में पर्यटकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए और आधुनिक होटलों का निर्माण हो सकता है। जिला कलक्टर ने बताया कि नापासर में औद्योगिक क्षेत्र के पास स्थित अनाज मंडी में दुकानें आवंटन करने का कार्य अगले सात दिनों में किया जाएगा, इसके लिए संयुक्त निदेशक कृषि विपणन बोर्ड तत्काल कार्यवाही कर समिति को अवगत करवाएगा।

विकसित होंगे छोटे-छोटे औद्योगिक क्षेत्र
जिला कलक्टर गौतम ने बताया कि  नोखा, श्रीडूंगरगढ़, नापासर में औद्योगिक क्षेत्र के लिए भूमि का चयन कर औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जाएंगे। खाजूवाला में औद्योगिक क्षेत्र में उद्योग संघ के भवन के लिए रीको भूमि उपलब्ध करवाएगा। जिला कलक्टर ने कहा कि उद्यमी पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए अपनी इकाईयों व आस-पास के क्षेत्रों में अधिक से अधिक पेड़ लगाएं। साथ ही लगाए गए पेड़ों के रख-रखाव की भी समुचित व्यवस्था करें।
फैक्ट्रियों के पास बने आवासीय मकानों में हो घरेलू विद्युत कनेक्शन
बैठक में वूलन इंडस्ट्रीज ऐसोशिएसन सहित विभिन्न औद्योगिक इकाईयों के प्रतिनिधियों ने जिला कलक्टर को बताया कि उनकी फैक्ट्री परिसर में मजदूरों के लिए बने आवासों में जो विद्युत कनेक्शन का चार्ज भी व्यावसायिक है। इससे गरीब मजदूरों का काफी नुकसान हो रहा है। जिला कलक्टर ने बी के ई एल एल तथा जोधपुर विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन आवासों के लिए विद्युत कनेक्शन के जो आवेदन किए जाते हैं, उन्हें घरेलू श्रेणी में कनेक्शन दिए जाएं।

यूआईटी का होगा डिजीटाईजेशन
जिला कलक्टर गौतम ने बताया कि उद्यमियों के साथ-साथ आमजन के कार्य यूआईटी में त्वरित और पारदर्शी तरीके से पूर्ण हो। छोटे-छोटे कार्यों के लिए आमलोगों को चक्कर ना लगाना पड़े इसके लिए यूआईटी में सभी फाइलें डिजीटल स्वरूप में कम्प्यूटरीकृत तरीके से सुरक्षित रखी जाएगी। बैठक में  उद्यमियों का यह कहना था कि ऐसे स्थान जहां अधिक मजदूर नियोजित हैं साथ ही शहर के कुछ ऐसे स्थान जहां दिहाड़ी के मजदूर रहते हैं वहां शिविर आयोजित कर राज्य सरकार की विभिन्न श्रमिक कल्याण योजनाओं के लाभ देने हेतु आवेदन भरवाएं, जिससे वे योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकें। बैठक में उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा सहित रीको, यूआईटी सहित पानी, बिजली व अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।