left

बीकानेर (हेल्लो बीकानेर न्यूज़) । आज पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है। वहीं भारत को सर्वाधिक उम्मीदें युवा वर्ग से है, ऐसे में युवाओं के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी है। युवा को भी इसे समझने की जरूरत है।

यह बात रविवार को प्रदेश कांग्रेस सचिव राजकुमार किराड़ू ने कही। वार्ड 31 के बागड़ियों के चैक में आयोजित युवा संवाद के दौरान उन्होंने कहा कि युवा, इस देश की सबसे बड़ी पूंजी है। देश का भविष्य इन्हीं के कंधों पर टिका है। उन्होंने कहा कि युवाओं के हितों की रक्षा करना सरकार की जिम्मेदारी है, लेकिन दुर्भाग्यवश आज केन्द्र और राज्य सरकार ने युवाओं के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया है। ऐसे में युवाओं के मन में सरकार के प्रति आक्रोश है। पिछले साढे चार वर्षों में राज्य सरकार ने युवाओं को छला है। इससे उनके भविष्य का सुनहरा दौर अंधकारमय हो गया है।

किराड़ू ने कहा कि अब युवाओं की बारी है। कुछ महीनों बाद होने वाले विधानसभा चुनावों में युवाओं को ही बदलाव की पहल करनी होगी तथा प्रदेश के भविष्य का निर्धारण करना होगा। उन्होंने कहा कि युवा अब भाजपा की चिकनी-चुपड़ी बातों में नहीं आए और पूर्ण गंभीरता के साथ निर्णय लेते हुए कांग्रेस को अवसर दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस छत्तीस कौम को साथ लेकर चलती है। जाति-पाति के बीच वैमन्स्य फैलाना कांग्रेस की रीति नहीं है। कांग्रेस सदैव विकास की पक्षधर रही है लेकिन पिछले वर्षों में विकास अवरूद्ध हुआ है। इसके लिए सरकार को नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

वार्ड के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सूरजमल जैन ने कहा कि आज कांग्रेस का नेतृत्व युवा राहुल गांधी कर रहे हैं। वे युवाओं को आगे बढ़ाना चाहते हैं। ऐसे में युवाओं को चाहिए कि वे भी अपने नेतृत्व के लिए युवा को तरजीह दें। उन्होंने समाज में साम्प्रदायिक सौहार्द बनाए रखने की अपील की। कार्यक्रम का संचालन पूनम चैधरी ने किया। इस दौरान मनोज चैधरी, सुनील आसोपा, गोपाल दाधीच, काशी प्रसाद तिवाड़ी, वैभव जैन, जगदीश चैधरी, श्रवण सोनी, योगेश महात्मा, करणी सिंह, भगवती प्रसाद तथा खुशमणि सोनी आदि मौजूद थे।