बीकानेर जिला उधोग संघ ने खाद्य मंत्री चौधरी को सोंपा ज्ञापन

0


हैलो बीकानेर। बीकानेर जिला उधोग संघ के अध्यक्ष द्वारका प्रसाद पचीसिया ने दाल.दलहन पर लगी स्टॉक सीमा हटाने के सम्बन्ध में एक ज्ञापन सी.आर. चौधरी केन्द्रीय खाद्य एनागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलात ,राज्यमंत्री भारत सरकार नई दिल्ली को ज्ञापन सोंपा।
ज्ञापन के माध्यम से बताया कि वर्तमान में राज्य में दाल व दलहन के थोक व्यापारियों एवं उधोगों पर स्टॉक सीमा लागू है, जिस समय यह सीमा लागू की गयी थी उस समय दालों की कीमतें बहुत ज्यादा बढ़ गयी थीए जिस पर रोक लगाने के लिए सरकार द्वारा इस सीमा को लागू किया गया था द्य इस साल दालों का उत्पादन बढ़ने से बजट में दलहन के भाव सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य से भी बहुत नीचे चल रहे हैंए इस समय स्टॉक सीमा लागू होने की वजह से प्रदेश के किसानों को अपनी उपज बहुत ही कम मूल्य पर बाजार में बेचनी पड़ रही है द्य किसानों को अपनी मेहनत से उपजाई गयी फसल में बहुत आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है व व्यापारी स्टॉक सीमा होने की वजह से माल का भंडारण नही कर पा रहा है व ये दलहन की उपज औने-पौने दामों में नजदीकी राज्यों में जा रही है द्य आज बाजारों में यह स्थिति है कि दलहन मूंग एवं उड़द सरकारी समर्थन मूल्य से 1000-1500 रूपये प्रति क्विंटल नीचे बिक रहे हैं एवं मोठ जो कि समूचे विश्व में पश्चिमी राजस्थान की फसल है एवं उसका उत्पाद भुजिया सारे विश्व में खाया जाता है वहीँ मोठ समर्थन मूल्य के आभाव में एवं स्टॉक सीमा के होने से सरकारी नीतियों से प्रभावित होकर पशुचारे के भाव से 2500 से 2800 रूपये प्रति क्विंटल पर किसानों को बेचना पड़ रहा है, इससे किसानए व्यापारी एवं उधमी सभी परेशान एवं दुखी है
प्रतिनिधि मंडल में द्वारका प्रसाद पचीसियाए जयकिशन अग्रवालए निर्मल पारख, नरेश मित्तल, मंगलचन्द गोयल सहित अनेक ऊधमी और व्यापारी शामिल हुए है ।