बीकानेर hellobikaner.com जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने शनिवार को शहर के 3 थाना क्षेत्रों में लगे कर्फ्यू  प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भ्रमण कर, कानून व्यवस्था का जायजा लिया और इस दरमियान आमजन को कोरोना वायसरस संक्रमण को लेकर जारी एडवाइजरी की पालना को कहा।

मेहता ने कोटगेट, पारीक चैक, डागा चैक, नत्थूसरगेट सहित शहर के भीतरी क्षेत्र को दौरा किया और उन्होंने पुष्करणा स्टेडियम के पास रूककर दूध विक्र्र्रेता को सोशल डिस्टेसिंग की पालना करने के कड़े शब्दों में निर्देश दिए। यहां पर दूध विक्र्र्रेता द्वारा कोरोना एडवाइजरी की पालना नही की जा रही थी। दुकान पर भारी भीड़ लगी होने के कारण उन्होंने इसे गंभीरता से लिया और पुलिस प्रशासन को निर्देश दिए कि सख्ती से सोशल डिस्टेसिंग की पालना करवाई जाए।

बीकानेर में इन क्षेत्रों से आए 106 पॉजिटिव मरीज सामने

वाहनों के उपयोग पर हो पूर्ण प्रतिबंध- जिला मजिस्ट्रेट ने नत्थूसर गेट के बाहर निरीक्षण के दौरान साथ चल रहे प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए की सभी कार्यपालक मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारी लगातार शहर का भ्रमण कर यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यक्ति वाहन का प्रयोग नहीं करेंगे। अगर दवा सहित अन्य सामान खरीदना हो तो घर के पास की दुकान से सामान खरीदते समय पैदल ही चलेंगे। अगर वाहन का प्रयोग करते हुए कोई पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाए।

जिला मजिस्ट्रेट ने हंसा गेस्ट हाउस, स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय, डागा पैलेस में बने क्वारंटीन सेन्टर का भी निरीक्षण किया और यहां क्वारंटीन व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने यहां कमरे, बैड, पेयजल और शौचालयों में साफ-सफाई व्यवस्था का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

विजयवर्गीय की ढाणी का भी किया निरीक्षण- जिला मजिस्ट्रेट मेहता ने विजयवर्गीय की ढाणी जहां चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ रुका हुआ है,  की  व्यवस्थाएं देखी और यहां दिए जाने वाले भोजन सहित अन्य व्यवस्थाओं के बारे में चिकित्सकों से बातचीत की। इस दौरान क्वारंटीन सेन्टर के संचालक में भी अपनी समस्याएं रखी, जिसपर जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि मूसीबत की इस घड़ी में आपका सहयोग सराहनीय है।  आपकी समस्याओं का भी निदान किया जाएगा । मगर वर्तमान दौर मे हम सबको मिलकर पहले कोरोना को हराना है। आपकी सभी मांगों पर जिला प्रशासन सहानुभूति पूर्वक विचार कर, बेहतर विकल्प पर कार्य करते हुए आपको भी आर्थिक नुकसान ना हो यह भी जिला प्रशासन के ध्यान में हैं।

सभी सम्मत होकर समय बताए उसी समय पर भोजन आयेगा
जिला कलेक्टर जब स्वामी केशवानंद कृषि विश्वविद्यालय में बने क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण कर रहे थे, तो भर्ती रोगियों ने बताया कि भोजन 1 बजे के बाद आता है।  कुछ लोगों ने कहा कि भोजन जल्दी आना चाहिए, जबकि कुछ लोगों की मांग थी कि 1.30 बजे आना चाहिए । इस पर जिला कलेक्टर ने कहा कि आप सभी सर्व सम्मत समय बता दे उसी वक्त भोजन आ जाएगा।

साफ सफाई में करें सहयोग
जिला कलक्टर जब क्वारंटीन सेंटर देख रहे थे तब वहां कार्य कर रहे चिकित्सकों ने बताया कि भर्ती रोगी साफ-सफाई में सहयोग नहीं कर रहे हैं और खाली बोतलें जगह-जगह फेंक देते हैं। इससे काफी परेशानी होती है।  जिला कलक्टर ने क्वारंटीन सेंटर में रह रहे सभी लोगों से कहा कि आप भी साफ-सफाई में सहयोग दें।  यहां कुछ लोगों ने दवा तथा स्वास्थ्य परीक्षण की बात रखी। जिला कलक्टर ने कहा कि आप भी दिल बड़ा रखें, सभी के लिए व्यवस्था कर रहे हैं, फिर भी जो दिक्कतें आ रही हैं उनका निराकरण जल्द से जल्द हो इसके लिए उन्होंने मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि वे लगातार व्यवस्थाएं बनाए रखे।

भोजन की गुणवता को परखा-जिला कलेक्टर नतिम मेहता जब स्वामी केशवानंद कृषि विश्वविद्यालय में क्वारंटीन सेंटर कर देख रहे थे तो कुछ लोगों ने बताया कि भोजन गुणवत्ता युक्त नहीं है। इस पर आज शाम को दिए जाने वाले भोजन का पैकेट जिला कलक्टर ने मंगवाया और उसका स्वाद चखा तथा सब्जी और दाल की मात्रा थोड़ी बढ़ाने की बात कही और कहा कि यह भोजन गुणवत्ता युक्त है।

निषेधाज्ञा प्रभावित क्षेत्र की स्कूले रहेंगी बंद- जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि कफ्र्यू प्रभावित क्षेत्रों की सभी स्कूले आगामी आदेश तक बंद रखी जायेगी। उन्होंने कहा कि निषेधाज्ञा क्षेत्र से आवश्यक सेवाओं के सात विभागों को छोड़कर अन्य विभागों के कार्मिक कार्यालय नहीं जा सकेंगे।

इस दौरान उनके साथ अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक पवन कुमार, अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (सिटी) सुनीता चौधरी, उप खण्ड अधिकारी रिया केजरीवाल,नगर विकास न्यास सचिव मेघराज सिंह मीना, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बी.एल.मीना सहित सभी कार्यपालक मजिस्ट्रेट थे।