मुख्यमंत्री गहलोत ने बीकानेर में मेगा जॉब फेयर व प्रदर्शनी का किया अवलोकन, युवाओं को दिए जॉब ऑफर लैटर

0
hellobikaner.com




जॉब फेयर में मुख्यमंत्री ने युवाओं को दिए जॉब ऑफर लैटर

बीकानेर hellobikaner.com मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में बेरोजगारी और महंगाई गंभीर समस्या है, लेकिन राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं के सपने साकार करने में कोई कमी नहीं आने देगी। शिक्षा, रोजगार और युवा केंद्रित राज्य नीतियों से उन्हें संबल प्रदान किया जा रहा है।

 

जोधपुर तथा जयपुर के बाद बीकानेर का मेगा जॉब फेयर इसी सोच का परिणाम है। युवाओं में आत्मविश्वास और इंटरव्यू दक्षता बढ़ाने के साथ-साथ निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए ऐसे जॉब फेयर अब हर जिले में कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि युवा सपने देखें और भविष्य के लिए लक्ष्य बनाएं। राज्य सरकार सदैव आपके साथ है।

 

गहलोत बुधवार को बीकानेर के राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज ग्राउंड में मेगा जॉब फेयर के अंतिम दिन युवाओं को संबोधित कर रहे थे। कौशल, रोजगार एवं उद्यमिता विभाग की ओर से आयोजित फेयर में उन्होंने कहा कि युवाओं को राजकीय और निजी क्षेत्र में रोजगार प्रदान कराना हमारी प्राथमिकता में है। हाल ही इन्वेस्ट राजस्थान में 11 लाख करोड़ रुपये के एमओयू हुए हैं, जिनसे राज्य में 10 लाख से अधिक रोजगार सृजित होंगे। सरकार द्वारा अभी राजकीय क्षेत्र में 1.35 लाख नौकरियां दी जा चुकी हैं। लगभग 1.25 लाख प्रक्रियाधीन हैं तथा 1 लाख और देने की घोषणा की गई है। ऐसे में रोजगार देने में राजस्थान पूरे देश में अग्रणी राज्य बन गया है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा शक्ति कुशल मानव संसाधन बने, हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़े, यह सरकार की प्राथमिकता है इसके लिए और अधिक प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भविष्य का भार युवाओं के कंधों पर है। नौजवानों के उज्ज्वल भविष्य के लिए रोजगार उपलब्ध करवाने हेतु राज्य में सकारात्मक माहौल तैयार किया जा रहा है।

 

राज्य की 5 योजनाएं देश में लागू करे केन्द्र
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की पूरे देश में चर्चा है। प्रधानमंत्री राज्य सरकार द्वारा लागू ओल्ड पेंशन स्कीम, मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना और उड़ान योजना को देशभर में लागू करें ताकि आमजन को आर्थिक और सामाजिक संबल मिल सके। गहलोत ने प्रधानमंत्री से पेंशन पॉलिसी बनाने का आग्रह किया।

 

अंग्रेजी माध्यम स्कूलों से बढ़ा आत्मविश्वास
गहलोत ने कहा कि अच्छी सोच, बेहतर शिक्षा के लिए प्रदेश में महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों की शुरूआत की गई, जिससे गरीब तबके के विद्यार्थियों को शुरू से ही अंग्रजी में पढ़ने का मौका मिल रहा है। इससे उनका और परिवार का आत्मविश्वास बढ़ा है। वहीं, राज्य सरकार द्वारा किसानों को बिजली बिलों में भी राहत प्रदान की गई है। इससे 8 लाख किसानों के बिल शून्य हो गए है। शहरी उपभोक्ताओं को भी बिलों में काफी छूट मिली है।

 

26 जनवरी से शहरी ओलंपिक खेलों की शुरूआत
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक से राजस्थान में खेलों का माहौल बना है। इनमें हर वर्ग के लगभग 30 लाख लोगों ने हिस्सा लिया। अब राज्य सरकार द्वारा 26 जनवरी से शहरी ओलंपिक खेलों की भी शुरूआत की जाएगी।

 

युवाओं को दिए जॉब ऑफर लैटर
मुख्यमंत्री ने जॉब फेयर में अच्छे पैकेज प्राप्त करने वाले युवाओं को जॉब ऑफर लैटर देकर सम्मानित किया। उन्होंने जॉब फेयर में प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए युवाओं से संवाद किया तथा उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि जॉब फेयर में लगभग 33 हजार युवाओं ने पंजीकरण कराया, जिनमें 1700 से अधिक युवाओं को मौके पर ही विभिन्न कंपनियों द्वारा ऑफर लैटर दिए गए। उन्होंने 10 सर्वश्रेष्ठ कार्य नियोक्ता संस्थाओं व कंपनियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस दौरान पोर्टिया मेडिकोज व 2050 हेल्थ केयर के साथ एम.ओ.यू. किया गया, जिससे राज्य में 10 हजार रोजगार सृजित होंगे। गहलोत ने राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान राशि के चेक भी वितरित किये।

कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बेरोजगारों को 4000-4500 रुपये भत्ता दिया जा रहा है। उन्हें संबल देने के साथ ही नौकरियां देने में भी प्रदेश अग्रणी रहा है। बीकानेर से पहले जोधपुर और जयपुर जॉब फेयर में हजारों युवाओं को ऑफर लैटर मिलना ही राज्य सरकार की युवाओं के भविष्य के प्रति सोच को दर्शाता है।

इस अवसर शिक्षा मंत्री बी.डी. कल्ला, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, आपदा प्रबंधन एवं सहायता मंत्री गोविंदराम मेघवाल, संभागीय आयुक्त नीरज के. पवन, कौशल उद्यमिता एवं रोजगार विभाग के शासन सचिव पी.सी. किशन, यशपाल गहलोत, जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी एवं युवा उपस्थित थे।

 

गांधी संस्थागत वन का किया उद्घाटन
मुख्यमंत्री ने राजकीय डूंगर महाविद्यालय, बीकानेर में पारिवारिक वानिकी के अंतर्गत विकसित गांधी संस्थागत वन का उद्घाटन किया। यहां उन्होंने प्रदेशभर में संचालित पारिवारिक वानिकी गतिविधियों, वानिकी संबंधित नवाचारों एवं गांधी वनों के छाया चित्रों का अवलोकन कर पौधारोपण किया। डॉ. श्याम सुंदर ज्याणी ने संस्थागत वन की गतिविधियों की जानकारी दी।