तेरह लाख का गबन, आरोपियों ने बीकानेर सहित इन जिलों में ठगी की वारदात को दिया अंजाम

0
Rajsthan News



बीकानेर hellobikaner.com राजस्थान के भीलवाड़ा जिले की सुवाणा पंचायत समिति के स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत शौचालय निर्माण में तेरह लाख रुपए की राशि का गबन करने के मामले के मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

 


पुलिस के अनुसार गत 22 फरवरी को विकास अधिकारी पंचायत समिति सुवाणा ने रिपोर्ट दी थी कि पंचायत समिति के स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत बनाए गए व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण के लिए निदेशालय से प्राप्त सूची के अनुसार 85 लाभार्थियों का भुगतान एसएसओ पर प्रदर्शित हो रहा है जबकि सुवाणा पंचायत समिति की एसएसओ आईडी एवं आधार ओटीपी से कोई भुगतान नहीं किया गया है। इस पर पुलिस ने टीम का गठन कर जांच शुरू की।

 


इस दौरान पुलिस ने शिशपाल उर्फ सुभाष जाणी निवासी राजीव नगर बरजासर थाना लोहावट जोधपुर को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर सामने आया कि शिशपाल और उसका सहयोगी गोरधन राम दोनों पहले मनरेगा मेट थे और ई मित्र संचालित करते थे। ऐसे में दोनों को फलौदी जोधपुर पंचायत समिति में आना-जाना था।

 

आरोपियों ने यहां से भुगतान प्रक्रिया को समझा और विकास अधिकारी के आईडी एवं पासवर्ड चुरा लिए। दोनों आरोपियों ने गत चार एवं पांच फरवरी को प्रदेश के कई पंचायत समितियों के खंड विकास अधिकारियों की एसएसओ आईडी और पासवर्ड प्राप्त कर ई पंचायत एवं एसबीएम के सर्वर में सेंध लगाकर शौचालय निर्माण के लाभार्थियों की राशि अपने परिचितों के खातों में ट्रांसफर कर दी और इस प्रकार लाखों रुपए का गबन कर दिया।

 


आरोपियों ने पंचायत समिति सुवाणा के 86 लाभार्थियों के खाते से करीब 10 लाख रुपए निकाल लिए। पुलिस ने शिशपाल को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि आरोपियों ने टोंक, अजमेर, भीलवाड़ा, सवाई माधोपुर, अलवर, पाली, जोधपुर, जैसलमेर, गंगानगर, दौसा, बीकानेर, बांसवाड़ा, भरतपुर तथा अन्य जिलों में भी ठगी की वारदात को अंजाम दिया।