इस गांव में हनुमानजी की नहीं होती पूजा, लोगों की नाराजगी आज तक बनी हुई है

भगवान हनुमानजी को यूँ तो पुरे विश्व में पूजा जाता है लेकिन आपको जानकर हैरत होगी कि देश में ही एक ऐसी जगह भी है जहां हनुमानजी की पूजा वर्जित है। दरअसल, वहां के बाशिंदे बाकायदा आज भी हनुमानजी नाराज हैं।

यह बात सौ प्रतिशत सही है। उत्तराखंड के द्रोणगिरि गांव के लोग हनुमानजी को ना पूजते हैं और ना ही मानते हैं। वहां के लोगों का मानना हैं कि हनुमानजी उस पर्वत को वहां से उठाकर ले गए जिसकी वे पूजा करते थे। द्रोणागिरि गांव उत्तराखंड के सीमांत जनपद चमोली के जोशीमठ प्रखण्ड में जोशीमठ नीति मार्ग पर है। यह गांव लगभग 14000 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। गाँव के लोगों का मानना है कि हनुमानजी जिस पर्वत को संजीवनी बूटी के लिए उठाकर ले गए थे, वह यहीं स्थित था। चूंकि द्रोणागिरि के लोग उस पर्वत की पूजा करते थे, इसलिए वे हनुमानजी द्वारा पर्वत उठा ले जाने से नाराज हो गए।

यही कारण है कि आज भी यहां हनुमानजी की पूजा नहीं होती। यहां तक कि इस गांव में लाल रंग का झंडा लगाने पर पाबंदी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*

code