कोलकत्ता में हुआ राजस्थानी भाषा संकल्प यात्रा का कार्यक्रम

0


हैलो बीकानेर, कोलकत्ता न्यूज़,। राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए बीकानेर के विभिन्न भागों में अलख जगाने वाली वाली संस्था मुक्ति द्वारा आज कोलकत्ता में संकल्प यात्रा का कार्यक्रम रंगकर्मी, रंग निदेशक एवं महिला अधिकारों एवं महिला सुरक्षा विषय पर निरंतर नाटक करने वाली अन्तराष्टीय नाटककार श्रीमती आरती डागा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। आज यात्रा मुक्ति के अध्यक्ष हीरालाल हर्ष और सचिव राजेन्द्र जोशी की अगुवाई में कोलकाता के नागर बाजार, दमदम रोड़ स्थित निलाम्बर विहार में संकल्प-यात्रा पहुँची। कार्यक्रम के अध्यक्ष डागा ने उपस्थित जन को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थानी भाषा की मान्यता का मुद्दा केवल राजस्थान का ही मुद्दा नहीं है वरन देश के कोने कोने में फैले पूरे राजस्थानी समाज की अस्मिता का मुद्दा है। उन्होंने पूरे देश में फैले राजस्थानी समाज से आह्वान किया कि भाषा की मान्यता के मुद्दे पर सभी को एकजुट होकर अपने प्रयासों को तेज करना चाहिए।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जानेमाने उद्योगपति एवं सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल दास डागा ने बोलते हुए कहा कि पूरे देश में वित्त की बात होती है तो राजस्थान के निवासी पहले याद किए जाते हैं। इसका अभिप्राय यह है कि राजस्थानी समाज की आवाज और पहचान पूरे देश में है फिर राजस्थानी भाषा अब तक संवैधानिक मान्यता से वंचित क्यों है।

मुक्ति के अध्यक्ष हीरालाल हर्ष ने कहा कि यदि पूरे देश के राजस्थानी समाज को एक मंच पर भाषा की मान्यता हेतु जोड़ लिया जाए तो वह दिन दूर नहीं जब मान्यता की मांग स्वीकार कर ली जाएगी। भाषा की मान्यता के अभाव में हमारी परंपरा और संस्कारों के साथ संस्कृति के लुप्त होने का खतरा मंडरा रहा है। कवि-कहानीकार और मुक्ति के सचिव राजेंद्र जोशी ने राजस्थानी भाषा मान्यता संकल्प यात्रा के अब तक के प्रयासों की जानकारी देते हुए मान्यता के लिए एकजुट होने का आह्वान उपस्थित जन से किया। साथ ही उन्होंने कहा कि मान्यता की मांग में जितने स्वर जुड़ेगे हमारा स्वर उतना ही दूर तक जाएगा। तकनीकी रूप से राजस्थानी की मान्यता के पक्ष में सभी बातों के होते हुए भी मान्यता नहीं दी जाना निसंदेश चिंताजनक है।

कार्यक्रम में व्यवसायी दीपूलाल, श्रीवल्ल्भ, पी. शीतल हर्ष, पूर्व पार्षद शांतिलाल जैन , कवि जसबीर चावला, महिला कार्यकर्ता उषा कुमारी, सुजय सिंह आदि ने भी विचार रखे। कल शुक्रवार को कोलकत्ता के साल्टलेक एवं बड़ा बाजार में यात्रा पहुंचेगी।