साहित्य अकादमी का राष्ट्रीय मुख्य पुरस्कार कमल रंगा को उनकी नाट्य कृति ‘अलेखूं अंबा’ पर घोषित हुआ

0
hellobikaner.com




हैलो बीकानेर न्यूज़ नेटवर्क hellobikaner.com  केन्द्रीय साहित्य अकादेमी, नई दिल्ली के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार-2022 राजस्थानी भाषा के लिए बीकानेर के वरिष्ठ साहित्यकार कमल रंगा को उक्त पुरस्कार उनकी चर्चित नाट्य कृति ‘अलेखूं अंबा‘ पर घोषित हुआ। यह कृति महाभारत के पौराणिक नारी चरित्र ‘अंबा‘ को केन्द्र में रखकर सृजित की गई है।

 

केन्द्रीय साहित्य अकादेमी, नई दिल्ली के सचिव डॉ. के. श्रीनिवासराव ने बताया कि आज दोपहर बाद उक्त पुरस्कार की घोषणा राजस्थानी के तीन विद्वान जुरी द्वारा सर्वसम्मति से किए गए निर्णय उपरांत अकादेमी की एग्ज्यूकेटिव द्वारा एपु्रवल के बाद घोषित किया गया। ज्ञात रहे कि अकादेमी प्रति वर्ष साहित्य की श्रेष्ठ कृति को एक प्रक्रिया उपरांत प्रदत करती है, जिसमें अकादेमी द्वारा देश की 24 भाषाओं में उक्त मुख्य पुरस्कार प्रदत किया जाता है।

 

 

कमल रंगा को यह राजस्थानी भाषा का राष्ट्रीय पुरस्कार अकादेमी के आगामी आयोजन में एक भव्य समारोह में ताम्रपत्र, शॉल, एक लाख रूपये की नगर राशि आदि प्रदत कर अर्पित किया जाएगा। वर्ष 2022 के राजस्थानी पुरस्कार के तीन निर्णायक (जुरी) क्रमशः डॉ सत्यनारायण, डॉ प्रकाश अमरावत एवं डॉ घनश्यामनाथ कच्छावा रहे।

 

 

रंगा को उक्त प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने पर नगर प्रदेश एवं देश के विभिन्न हिस्सों से बधाई एवं शुभकामनाएं मिल रही है। रंगा ने इस पुरस्कार प्राप्ति पर कहा कि उक्त पुरस्कार राजस्थानी भाषा साहित्य के साथ नगर की समृद्ध गौरवमय साहित्यिक परंपरा को समर्पित है।