सरदारशहर विधानसभा चुनाव : 5 बजे तक 69.91 प्रतिशत हुआ मतदान, 10 प्रत्याशी हैं चुनाव मैदान में

0
hellobikaner.com




बीकानेर hellobikaner.com संभाग के चूरू जिले में आज 5 दिसंबर सोमवार को विधानसभा क्षेत्र सरदारशहर, चूरू में कुल 295 मतदान केन्द्रों पर शांतिपूर्वक मतदान सम्पन्न हुआ। सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में 289843 सामान्य मतदाता हैं जिनमें से 152766 पुरुष तथा 137077 महिला मतदाता हैं। इसके अलावा 498 सर्विस वोटर्स हैं, जिनमें से 488 पुरुष तथा 10 महिला मतदाता हैं। सरदारशहर निर्वाचन क्षेत्र से कुल 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

 

5 बजे तक 69.91 प्रतिशत हुआ मतदान : जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त प्रारम्भिक सूचना के अनुसार सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में सांय 5 बजे तक 69.91 प्रतिशत मतदान (अनंतिम) हुआ है। क्षेत्र में सवेरे 9 बजे तक 5.28 प्रतिशत, 11 बजे तक 20.10 प्रतिशत, दोपहर 1 बजे तक 36.68 प्रतिशत, दोपहर 3 बजे तक 54.95 प्रतिशत मतदान हुआ।

 

मतदान के दौरान सभी बूथों पर आवश्यक मूलभूत सुविधाएं पेयजल, बिजली, रैंप आदि सुनिश्चित की गईं। सरदारशहर नगरीय क्षेत्र के बाल मंदिर उच्च माध्यमिक विद्यालय में बूथ संख्या 163 को आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया था, जहां सभी व्यवस्थाएं और सुविधाएं उच्च गुणवत्ता की रहीं। सरदारशहर के ही राजकीय टांटिया बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्थापित मतदान केंद्र संख्या में 148 में पूरी प्रक्रिया महिला कार्मिकों ने संपन्न करवाईं। इस संपूर्ण महिला प्रबंधित मतदान केंद्र में मतदान दल के अलावा सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा भी महिला कार्मिकों ने संभाला।

 

गांव पनपालिया में हुआ मतदान : पूर्व के चुनावों में मतदान का बहिष्कार करने वाले सरदारशहर के पनपालिया गांव के मतदाताओं ने भी उत्साह के साथ मतदान किया। पंचायत पुनर्सीमाकंन से नाराज चल रहे पनपालिया के मतदाताओं ने शुरू में पिछली बार की ही तरह विधानसभा उप चुनाव का बहिष्कार करने की घोषणा की थी लेकिन इस बार जिला प्रशासन की समझाईश और प्रयासों के बाद ग्रामीण मतदान को राजी हुए और उत्साह के साथ मतदान किया।

 

मतदाताओं में दिखाई दिया उत्साह
मतदान दिवस पर सोमवार को सवेरे से ही मतदाताओं में उत्साह दिखाई दिया। अनेक बूथों पर मतदाताओं, विशेषकर महिला मतदाताओं की कतारें दिखाई दीं। पूलासर के बूथ 233 पर नीलम शर्मा ने अपने जीवन में पहली बार मतदान किया। नीलम ने कहा कि मतदान हमारा अधिकार है और पहली बार मतदान करके वह बहुत उत्साहित है। पूलासर के बूथ संख्या 234 पर वोट डालने आई युवा मतदाता चारू पारीक ने बताया कि उसे मतदान करके बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। हम सभी को लोकतंत्र के इस महायज्ञ में अपनी भागीदारी निभानी चाहिए। पूलासर में वॉलिंटियर प्रेरणा पारीक ने बताया कि उसे ग्रामीण मतदाताओं का मतदान में सहयोग करके बहुत अच्छा लग रहा है। बीदासर बिदावतान के बूथ नंबर 241 पर 30 वर्षीय लक्ष्मीदेवी ने पैर में चोट और प्लास्टर बंधा होने के बावजूद मतदान केंद्र तक आकर मतदान किया और कहा कि लोकतंत्र में मतदान बहुत जरूरी है। हम सभी को आवश्यक तौर पर मतदान करना चाहिए। उन्होंने बताया कि खेत में गिर जाने के कारण उनके पैर में फ्रेक्चर हो गया था। उदासर बिदावतान में 85 वर्षीय सुंदर देवी ने अपने परिजनों के साथ आकर मतदान किया।

 

80 वर्ष से अधिक, दिव्यांगजन, सर्विस वोटर्स व मतदान कार्मिकों के लिए विशेष व्यवस्था  : भारत निर्वाचन आयोग की समावेशी और सुगम चुनाव अवधारणा के चलते, पोस्टल बैलेट सुविधा को विस्तारित किया गया है। 80 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिक, आवश्यक सेवाओं में संलग्न व्यक्तियों को इसमें जोड़ा गया है। विधानसभा क्षेत्र सरदारशहर में 80 वर्ष से अधिक आयु के 7337 मतदाता तथा 2463 दिव्यांग मतदाता हैं। 80 वर्ष से अधिक आयु व दिव्यांग मतदाताओं में से 797 ने पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान के लिए आवेदन किया था। इनमें से 781 मतदाताओं ने पोस्टल मत का उपयोग कर घर बैठे मतदान किया।

 

सरदारशहर निर्वाचन क्षेत्र में सर्विस मतदाताओं की कुल संख्या 498 है, जिसमें से 27 सर्विस वोटर्स के डाक मत पत्र प्राप्त हो चुके हैं। सर्विस वोटर्स का मत, मतगणना के दिन मतगणना प्रारंभ होने तक पोस्ट के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है। मतदान कार्मिकों के 133 मतदाताओं में से 39 ने अपने डाक मत का उपयोग किया।

 

दिव्यांगजनों हेतु Each One Reach One नवाचार
सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में नवाचार के रूप में सभी 2463 दिव्यांग मतदाताओं हेतु Each One Reach One थीम के तहत कुल 2463 मतदाता सहायकों की नियुक्ति की गयी। दिव्यांगजनों के अधिकतम मतदान को सुनिश्चित करने के लिए सम्पूर्ण विधानसभा क्षेत्र को 39 कलस्टर में बांटा गया, प्रत्येक कलस्टर में 1 दिव्यांग मतदाता वाहन की व्यवस्था कर दिव्यांग मतदाता की सहायता हेतु वाहन प्रभारियों की नियुक्ति की गयी। सभी 295 मतदान केन्द्रों पर 295 व्हील चेयर एवं 41 सुगम दिव्यांग मतदाता वाहनों की व्यवस्था की गयी।

 

सेक्टरवार दिव्यांग मतदाताओं के व्हाट्सएप्प ग्रुप बना कर सभी दिव्यांग मतदाताओं, सेक्टर ऑफिसर, बूथ लेवल ऑफिसर आदि को ग्रुप में जोड़ कर मतदान हेतु प्रेरित किया गया। विशेेष योग्यजन पेंशनर्स की सूची के अनुसार सभी दिव्यांगजनों की मतदाता सूची में 100 प्रतिशत फ्लेगिंग सुनिश्चित की गयी। साथ ही गूगल फॉर्म के माध्यम से डोर-टू-डोर सर्वे करवा कर रियल टाईम डाटा प्राप्त कर दिव्यांग मतदाताओं को सुगम मतदान हेतु आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवायी गयी। यथा -162 शिशु सहायिकाओं की नियुक्ति की गयी, सभी दिव्यांग मतदाताओं की आधार लिंकेज सुनिश्चित की गयी। सभी 714 दृष्टि बाधित मतदाताओं को ब्रेल मतदाता पर्चियां घर पर ही उपलब्ध करवाते हुए ब्रेल डेमो की व्यवस्था की गयी।

दिव्यांग मतदाता या उनके परिवारजन के मोबाइल में PWD 2.0 और AVHA APP इन्स्टॉल करवा कर E-Epic डाउनलोड व बूथ संबंधी जानकारी प्राप्त करने के संबंध में जागरुक किया गया। सभी 2463 दिव्यांग मतदाताओं से बूथ लेवल अधिकारी द्वारा घर पर संपंर्क कर मतदान शपथ एवं होम वोटिंग की जानकारी दी गयी तथा घर से मतदान (पोस्टल बैलेट) हेतु मोबाइल संदेश भिजवाये गये। नवाचार के चलते सरदारशहर विधानसभा निर्वाचन क्षैत्र में कुल 2463 दिव्यांग मतदाताओं में से 1902 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। इस प्रकार दिव्यांग मतदाताओं का मत प्रतिशत 77.22 रहा।

 

पर्यवेक्षकों और अधिकारियों के सहयोग से जिला निर्वाचन अधिकारी एवं रिटर्निंग अधिकारी ने इन दिव्यांग मतदाताओं हेतु सुगम मतदान सुगम प्रक्रिया सुनिश्चित की। प्रत्येक मतदान केन्द्र पर मूलभूत आवश्यक सुविधाएं पीने का पानी, वेटिंग शेड, पानी की सुविधा के साथ शौचालय व पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था और मतदाताओं को उपयुक्त रैंप की सुविधाएं उपलबध करवाई गईं। सभी मतदाताओं को मतदान हेतु सुगमता प्रदान करने के लिए मतदाता सूचना पर्ची वितरित की गयी। दृष्टिहीन एवं मूक-बधिर मतदाताओं के लिए वीडियो गाइड की व्यवस्था मतदान के दिन की गई। ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से नेत्रहीन और आम मतदाताओं को पोलिंग बूथ हेतु सूचना दी गई। प्रत्येक बूथ पर स्वयंसेवकों द्वारा वरिष्ठ नागरिकों एवं दिव्यांगजनों को सहायता प्रदान की गई। स्काउट-गाइड स्वयंसेवकों द्वारा विशेष योग्यजन, वृद्धजन एवं बीमार मतदाताओं को अपने निवास से बूथ तक ले जाने में सहयोग किया। कतार बनाना, पानी पिलाना जैसी व्यवस्थाएं भी इन स्वयंसेवकों ने सुनिश्चित की।

 

एम-3 मॉडल की ईवीएम-वीवीपेट मशीनों का हुआ उपयोग : ईवीएम-वीवीपेट हेतु मानक प्रोटोकॉल को लागू करते हुए पहले चरण की जाँच, रेंडमाइजेशन व कमीशनिंग राजनीतिक पार्टियों/उम्मीदवारों की उपस्थिति में की गई। मॉक पोल करवाए गए और पूरी कवायद के लिए ईवीएम और वीवीपेट की पर्चियों के परिणाम परस्पर संबद्ध थे। इस बार विधानसभा उप चुनाव में नवीनतम तकनीकी पर आधारित एम-3 मॉडल की ईवीएम-वीवीपेट मशीनों को उपयोग में लिया गया है।मतदान कार्मिकों को ईवीएम के गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण के चलते सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में मॉक पोल के दौरान मात्र 01 कन्ट्रोल युनिट तथा वास्तविक मतदान के दौरान 01 बैलेट युनिट, 01 कन्ट्रोल युनिट तथा 04 वीवीपेट बदले गए।

 

लाईव वेबकास्टिंग से संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर रखी नजर : स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों की एक बानगी के रूप में सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र के कुल 295 मतदान केन्द्रों में से 148 मतदान केन्द्रों पर केन्द्रों पर लाईव वेबकास्टिंग के जरिये नजर रखी गई जिनमें 72 संवेदनशील मतदान केन्द्र भी शामिल हैं। यह एक लाइव स्ट्रीमिंग सत्र है जिसमें सीईओ, डीईओ, पर्यवेक्षक इसे देखने और इन विशिष्ट मतदान बूथों पर कड़ी नजर सुनिश्चित कर सकते हैं। लाईव वेबकास्टिंग की 04 स्तरों पर मॉनीटरिंग भी की गई है। 11 मतदान केन्द्रों पर वीडियोग्राफी तथा 43 मतदान केन्द्रों पर सुक्ष्म-पर्यवेक्षक मौजूद रहे।

 

1.91 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की अवैध शराब, नगदी व अन्य सामग्री जब्त : उप चुनाव के मध्यनजर निर्वाचन विभाग के निर्देश पर संबंधित विभागों ने 1ए91ए61ए300/- रूपये की 22757 लीटर अवैध शराब, चूरू पुलिस द्वारा 25 लाख रुपये नगद राशि, एसएसटी सरदारशहर द्वारा 1245800 रुपये नगद राशि तथा पुलिस विभाग द्वारा 970200 रूपये के नशीले पदार्थ एवं अन्य सामग्री जब्त की है। पुलिस द्वारा आयुध अधिनियम के तहत 02 पिस्टल तथा 06 जिन्दा कारतूस जब्त किये गये। मोटर वाहन अधिनियम के तहत 1907300/- रुपये का जुर्माना वसूल किया गया। निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के लिए 9 एफएसटी एवं 9 एसएसटी का गठन किया गया था। आयकर विभाग, पुलिस, नारकोटिक्स, कस्टम, एयरपोर्ट, रेल्वे, बैंक सहित सभी विभागों का भी इसमें महत्वपूर्ण योगदान रहा।

 

निष्पक्ष चुनाव के लिए पुलिस बल रहा मौजूद : स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव के लिए एक सजग और पारदर्शी तंत्र को विकसित किया गया ताकि स्वतंत्र और प्रलोभन मुक्त चुनाव सुनिश्चित किए जा सके। विस्तृत सुरक्षा योजना चुनाव के सुचारू और सुरक्षित संचालन के लिए निर्मित की गई। सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में कुल 1993 पुलिस बल तैनात किया गया।

 

सीएपीएफ, एसएपीएफ की 8 कम्पनियों सहित राजकीय पुलिस के 784 जवान व 645 होम गार्ड नियोजित किए गए और स्थानीय पुलिस बल तैनात किए गए। फ्लैग मार्च, नियमित गश्त और अन्य विश्वास निर्माण उपायों के जरिए विशेष रूप से समाज के कमजोर वर्गों से संबंधित लोगों को आश्वस्त करने के लिए किया गया। मशीनों को बदलने और अन्य संबन्धित शिकायतों के पाए जाने पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा सुनिश्चित करवाया गया शिकायतों का त्वरित निराकरण सेक्टर ऑफिसर एवं पुलिस अधिकारियों द्वारा किया जाए।

 

संभागीय आयुक्त, जिला निर्वाचन अधिकारी एवं पर्यवेक्षकों की रही नजर : संभागीय आयुक्त डॉ नीरज के पवन और जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने भादासर दिखनादा, बंधनाऊ उतरादा, सरदारशहर सहित विभिन्न स्थानों पर ग्रामीण एवं शहरी मतदान केंद्रों पर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। भारत निर्वाचन आयोग के सामान्य पर्यवेक्षक डॉ लक्षमिशा जी, पुलिस पर्यवेक्षक बंदी गंगाधर सहित मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से जुड़े अधिकारियों, उप जिला निर्वाचन अधिकारी लोकेश गौतम, सुजागनढ़ एडीएम सहित जिला प्रशासन के अधिकारियों, एरिया मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट ने चुनाव के दौरान सतर्क एवं सजग रहकर मॉनीटरिंग की।

 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी, राजस्थान प्रवीण गुप्ता ने चुनाव से जुड़े अधिकारियों – डीईओ, एस.पी., आरओ, एआरओ, नोडल विभागों व सभी क्षेत्रीय पदाधिकारियों और विशेष रूप से मतदाताओं को चुनाव प्रक्रिया में उनकी उत्साही और निडर भागीदारी के लिए आभार जताया। दिव्यांग मतदाता, सर्विस वोटर, वरिष्ठ नागरिक, निर्वाचन मानदंडों का सम्मान करते हुए चुनाव में भाग लेने के लिए साधुवाद के पात्र हैं। सम्पूर्ण चुनावी मशीनरी, चुनाव ड्यूटी में कार्यरत पार्टियां, सुरक्षा ड्यूटी में लगे व्यक्ति, निरीक्षक, ऑब्जर्वर्स, रेल्वे अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी, सुरक्षा से जुड़े अधिकारी/कर्मचारी बधाई के पात्र हैं जिन्होंने विधानसभा उप चुनाव में निष्पक्ष, स्वतंत्र, पारदर्शी एवं सुरक्षित चुनाव हेतु सजगता से अपनी सेवाऎं दी हैं।