शहरी क्षेत्रों में विकास योजनाओं का हो प्रभावी क्रियान्वयनः नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री

0



बीकानेर, । नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों के विकास के लिए अनेक योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। नागरिकों को इनका लाभ मिले, इसके लिए निकाय प्रमुख एवं सरकारी अधिकारी-कर्मचारी पूर्ण समन्वय एवं मनोयोग से कार्य करें।
कृपलानी शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में संभाग के नगरीय निकायों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नगरीय क्षेत्रा साफ-सुथरे एवं स्वच्छ रहें, इसमें निकाय अध्यक्षों की भूमिका महत्त्वपूर्ण है। नगरीय क्षेत्रों को प्राथमिकता से खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) किया जाए। इसके लिए प्रातः कालीन निगरानी तथा आईईसी गतिविधियां संचालित की जाएं। जिन घरों में शौचालय नहीं बने हुए हैं, उनके आवेदन लिए जाएं। उन्होंने कहा कि बीकानेर नगर निगम क्षेत्र में शौचालय के कितने आवेदन प्राप्त हुए। इनमें से कितने शौचालय अब तक बने हैं तथा इन पर कितनी राशि खर्च हुई है, इससे संबंधित समूची जानकारी अगले तीन दिनों में बीकानेर पूर्व एवं पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायकों को उपलब्ध करवाई जाए। साथ ही प्रति सप्ताह विधायकों को निगम से संबंधित जनकल्याणकारी कार्यों की प्रगति सूचना उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
कृपलानी ने कहा कि निकाय अपनी आय में वृद्धि के प्रयास करें तथा लैंड बैंक का निर्धारण करें। पॉलीथीन के धरपकड़ के अभियान चलाए जाएं। अधिकारियों को पॉलीथीन के उपयोग एवं भंडारण से संबंधित प्रावधानों की जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी नगर पालिकाओं को फायर ब्रिगेड उपलब्ध करवाई जाएगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग तथा वाईफाई की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शहरी गौरव पथ निर्माण से संबंधित कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता एवं गुणवत्ता से किए जाएं। उन्होंने बताया कि बीकानेर की चार, चूरू की 10, हनुमानगढ़ की 6 तथा श्रीगंगानगर की 9 नगर पालिकाओं में ढाई-ढाई करोड़ के शहरी गौरव पथ बनाए जाएंगे।
दुकानों के बाहर डस्टबिन नहीं तो लगेगा जुर्माना
नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि यदि किसी दुकान के बाहर डस्टबिन नहीं रखा हुआ है तथा दुकानदार द्वारा गंदगी फैलाई जाती है तो उसके विरूद्ध जुर्माना वसूला जाए। राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। इसी प्रकार सड़कों पर आवारा पशुओं को छोड़ने वालों के खिलाफ भी जुर्माने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने संपति विरूपण प्रतिषेध अधिनियम के तहत कार्रवाई करने, घर-घर कचरा संग्रहण करने तथा इसकी सूचना अपलोड करने, शहरी क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने की कार्ययोजना बनाने तथा इसके लिए आवश्यक संसाधन खरीदने के निर्देश दिए।
बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी ने कहा कि नगर निगम द्वारा स्वच्छ भारत अभियान और शहरी क्षेत्रा में सीवरेज की स्थिति से संबंधित जानकारी दी जाए। बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्रा विधायक सिद्धि कुमारी ने कहा कि निगम द्वारा विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति से अवगत करवाया जाए। उन्होंने विधायकों की अभिशंषा पर शहरी क्षेत्रा के प्रत्येक वार्ड में 30-30 लाख रूपये के कार्य करवाने की बात कही।
बैठक में संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, अनूपगढ़ विधायक शिमला बावरी, सुजानगढ़ विधायक खेमाराम मेघवाल, महापौर नारायण चौपड़ा, नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, श्रीगंगानगर नगर विकास न्यास अध्यक्ष संजय महिपाल, प्रमुख शासन सचिव डॉ. मंजीत सिंह, जिला कलक्टर वेदप्रकाश, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य सहित विभिन्न नगरीय निकायों के अध्यक्ष एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे।