नकली सोना गिरवी रखकर नौ व्यक्तियों के साथ की 32 लाख रूपए की धोखाधडी

0




श्रीगंगानगर hellobikaner.com बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर जिले में भिरानी थाना क्षेत्र के छानीबड़ी कस्बे में नौ व्यक्तियों द्वारा बैंक के एमपैनल अप्रेजल स्वर्णकार के साथ मिलीभगत कर नकली सोने के जेवर गिरवी रखकर 32 लाख की धोखाधड़ी करने का मामला उजागर हुआ है।

 


पुलिस के अनुसार छानीबड़ी में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (कृषि विकास शाखा) के मुख्य प्रबंधक सुरेंद्र सिंह (42) निवासी फेफाना द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर एमपैनल अप्रेजल सुनार सहित नौ व्यक्तियों के खिलाफ षडयंत्र पूर्वक अमानत में खयानत और धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

उन्होंने बताया है कि वर्ष 2021 और 22 के दौरान बैंक के एमपैनल अप्रेजल निशांत सोनी प्रोपराइटर कडैल ज्वेलर्स, छानीबड़ी के साथ मिलीभगत कर 9 व्यक्तियों ने बैंक में नकली सोने के जेवर रखकर लगभग 32 लाख का ऋण ले लिया। जेवरों की परख अप्रेजल निशांत सोनी ने की थी। इन व्यक्तियों ने पहले से ही निशांत सोनी से सांठगांठ कर ली। जब यह व्यक्ति गिरवी रखने के लिए जेवर बैंक में लेकर आए तो नियमानुसार अप्रेजल निशांत सोनी से चेक करवाया गया। उसने जेवर 22 कैरेट शुद्ध सोने के होना बताया। इसके आधार पर गोल्ड लोन दे दिया गया।

 


मुख्य प्रबंधक के अनुसार बैंक में नियमित रूप से गोल्ड लोन की एवज में रखे गए जेवरात की ऑडिट की जाती है। विगत जुलाई माह में ऑडिट के दौरान यह एक एमपैनल अप्रेजल रिद्धि सिद्धि ज्वेलर्स भादरा के प्रोपराइटर रोहताश सोनी से जांच करवाई गई तो जेवरात नकली सोने के होना पाया गया।

 


पुलिस ने बताया कि धारा 120-बी,406 और 420 के तहत दर्ज किए गए मुकदमे की जांच एएसआई कमलजीत सिंह को सौंपी गई है।

ख़बर सर्किल : करोड़ों भारतीयों का सपना टूटा, लेकिन इस शर्मनाक हार का जिम्मेदार कौन ?

 

त्योहरी सीजन में यात्री वाहनों की बिक्री ने पकड़ी रफ्तार