युवती का अपहरण कर बंधक बनाकर किया सामुहिक दुष्कर्म

0
hellobikaner.com




हैलो बीकानेर न्यूज़ नेटवर्क hellobikaner.com राजस्थान में भीलवाड़ा जिले के कारोई थाना क्षेत्र में एक युवती का अपहरण करने के बंधक बनाकर उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया हैं।

 


कारोई थाना इलाके में रहने वाली 20 साल की युवती ने पुलिस अधीक्षक को दी रिपोर्ट में मोटरास निवासी बंशीलाल रेबारी एवं बद्रीलाल रेबारी, कल्लुराम रेबारी एवं पुखराज निवासी देवासी की ढाणी रास बादरा, पाली एवं निवासी घासीराम रेबारी निवासी थरासमी, पाली को आरोपित बनाया है।

 


पीड़िता का आरोप है कि उसके मोबाइल नंबर उसके काका के बेटे से आरोपित बंशी ने लिये थे। इसके बाद बंशी उसे फोन कर बात करने लग गया। बहला-फुसलाकर झांसे में लिया। उसने, युवती से कहा कि उसे पत्नी छोड़ गई। वह अकेला है। यह कहते हुये युवती के समक्ष शादी का प्रस्ताव रखा। युवती ने उस पर विश्वास कर लिया। पांच.छह महीने पहले बोलेरो लेकर दोपहर 1 बजे गांव आया। बोलेरो में बंशी, बद्री, घासी, पुखराज एवं कल्लु था। ये लोग उसे बोलेरो में बैठाकर पाली ले गये। वहां बंशी ने उसे शादी के झांसे और वादे में रखा और बिना सहमति के दस दिन तक दुष्कर्म करता रहा।

 


पीड़िता का कहना है कि इसके बाद उसे दस हजार रुपये में दूसरे आरोपित बद्रीलाल को बैच दिया। उसे जान से मारने की धमकी देकर कहा कि जो तेरे साथ करे, उसे करने देना। पीड़िता ने रिपोर्ट में बताया कि उसके पिता नहीं है, इससे वह डर गई। बद्रीलाल, उसे भीलवाड़ा लेकर गया। 15 दिन तक बद्री ने भी उसके साथ ईच्छा के विरुद्ध प्रतिदिन रेप किया। बद्री ने भी उसे 10 हजार रुपये में कल्लुराम को बैच दिया।

 


पीडिता ने रिपोर्ट में कहा कि कल्लुराम रेबारी इस पीड़िता को भीलवाड़ा से बैंगलोर ले गया। कल्लूराम ने उसे बैगलोर में किराये के मकान में महीने भर रखा। वहां कल्लुराम रेबारी ने भी एक माह तक रेप किया। वहां पुखराज भी बंगलोर में अलग किराये के कमरे पर रहता था। कल्लुराम ने भी युवती के साथ वैसा ही किया, जैसा उसके साथ अन्य आरोपितों ने किया।

 


कल्लुराम ने युवती से रेप करने के बाद उसे 20 हजार रुपये में अन्य आरोपित पुखराज को बैच दिया। वह उसे बैंगलोर से रास, ब्यावर ले आया। युवती को आरोपित पुखराज ने वहां एक महीने तक रखा और खोटा काम करता रहा।

 


पुखराज ने 5 हजार रुपये मे युवती को अन्य आरोपित घासी को सौंप दिया। वह, पीड़िता को खैरवे ले गया। घासी ने वहां किराये के मकान में बंधक बनाकर युवती को 15 दिन रखा और दुष्कर्म किया। वहां से कल्लुराम उसे रास, ब्यावर ले गया और कल्लुराम ने 2-3 महीने तक दुष्कर्म किया। युवती को वहां मौका मिला तो उसने कल्लुराम के फोन से अपने भाई को फोन लगाया।

 


पीड़िता की सूचना पर उसका भाई कारोई पुलिस को साथ लेकर रास, ब्यावर पहुंचा जहां से युवती को यहां लाया गया। युवती का आरोप है कि पुलिस ने उसके भाई को घर भेज दिया। पुुलिस ने आरोपित से मिलभगत कर उसे एसडीएम के सामने पेश किया, जहां एसडीएम को भी आपबीती बताई। फिर वह अपने भाई एवं मामा के साथ गांव चली गई। परिवारवालों को आपबीती बताई। इसके बाद हिम्मत जुटाकर यह रिपोर्ट पेश की।
पुलिस ने मामला दर्ज कर इसकी जांच उप पुलिस अध्ीाक्षका गोपीचंद मीणा कर रहे है।