बीकानेर hellobikaner.com कोरोना से बचाव के लिए जिला स्तर पर ‘नो मास्क, नो एंट्री’ अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान आमजन को सार्वजनिक स्थानों, सरकारी एवं निजी संस्थानों, बैंकों और बाजारों आदि में अनिवार्य रूप से मास्क लगाने के लिए प्रेरित करने की मुहिम चलाई जाएगी। अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ‘नो मास्क, नो एंट्री’ अभियान को जन-जन का अभियान बनाया जाएगा। इसमें विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं और व्यापारिक संगठनों को भी जोड़ा जाएगा। अभियान की शुरूआत बुधवार को होगी। अभियान के तहत प्रशासन एवं संस्थाओं के सहयोग से मास्क पहनने के प्रति जागरुकता वाले लगभग एक लाख पोस्टर, बैनर आदि छपवाए जाएंगे। इन्हें समस्त सरकारी कार्यालयों सहित सार्वजनिक स्थानों पर लगाया जाएगा।

मेहता ने कहा कि वर्तमान में कोरोना के प्रति जागरुकता को सामाजिक आंदोलन बनाने की जरूरत है। इसके लिए सामूहिक प्रयासों किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आमजन इस अभियान में सहयोग करें तथा पूर्ण सतर्कता रखते हुए कोरोना को काबू करने में भागीदार बनें। उन्होंने कहा कि वर्तमान दौर पूर्ण सतर्कता का है तथा ऐसे समय में नियमों की अवहेलना सहन नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा अभियान की समन्वयक होंगी तथा विभिन्न औद्योगिक संगठनों को भी इससे जोडा़ जाएगा।

’‘काकोसा’ करेंगे जागरुक’
जिला कलक्टर ने कहा कि जिले के ‘मस्कट’ काकोसा के माध्यम से आमजन को मास्क पहनने सहित कोरोना से बचाव के लिए रखी जाने वाली सावधानियों के लिए जागरुक किया जाएगा। बुधवार को इससे संबंधित पोस्टर का विमोचन भी होगा।  बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए. एच. गौरी, एडीएम (सिटी) सुनीता चैधरी, नगर विकास न्यास मेघराज सिंह मीणा, साक्षरता अधिकारी राजेन्द्र जोशी, स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय के सहायक निदेशक (जनसम्पर्क) हरि शंकर आचार्य, मंडी सचिव नवीन गोदारा, जिला उद्योग केंद्र की महाप्रबंधक मंजू नैण मौजूद थे।