जयपुर। राजस्थान की सियासी ड्रामें में लगातार कुछ ना कुछ नया देखने को मिल रहा है। जहां आरोप- प्रत्यारोप का दौर जारी है..वहीं विधानसभा सत्र को बुलाने को लेकर राज्यपाल कलराज मिश्र से मंजूरी तो मिल गई है।

लेकिन अब भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को विधानसभा सत्र बुलाने में डर लग रहा है उधर स्पीकर सी पी जोशी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत के बीच हुई बातचीत का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें स्पीकर सी पी जोशी अशोक गहलोत सरकार बचाने की बात कर रहे हैं।

इस वीडियो के वायरल होने के बाद अब भाजपा स्पीकर की भूमिका और उनकी निरपेक्षता पर ही सवाल खड़ कर रही है सियासी जानकारों का मानना है कि सचिन पायलट खेमे की याचिका पर हाई कोर्ट का फैसला अगर हक में नहीं आता है तो अशोक गहलोत के लिए भाजपा और सचिन पायलट खेमा बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकता है। बहरहाल रोज नए-नए पेंच सामने आ रहे हैं और राजस्थान की राजनीति अब राष्ट्रीय स्तर की सियासत में तब्दील होती जा रही है।

राजस्थान की सियासत में ऑडियो टेप के बाद अब नए वीडियो से घमासान मचना तय है। दरअसल, स्पीकर सी पी जोशी के घर जाकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत ने कल मुलाकात की थी मुलाकात के दौरान स्पीकर सी पी जोशी ने कहा कि हालात मुश्किल हैं 30 विधायक निकल जाते हैं तो आप कुछ नहीं कर सकते, वो सरकार गिरा देते, स्पीकर सी पी जोशी का कल कल जन्मदिन था. इस मौके पर वैभव गहलोत ने उनसे मिलने पहुंचे थे।